24 Oct 2017

ऑफिस में कैसे महिलाये ठंड से जम जाती है ! जबकि पुरुष नहीं क्यों ?


Google Images

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम रोहित है , उम्मीद है आप लोग भी अच्छे होंगे ! तो चलिए  बात करते है की महिलाये ठंड  में जम  कैसे जाती है !   यह बात हमेशा  चर्चा का विषय रही है की ऑफिस में मर्दो के मुकाबले महिलाओ को ज्यादा ठण्ड लगती है ! इस मसले पर कई सर्वे भी हुए है लेकिन कोई खास नतीजा नहीं निकला ! लेकिन एक सर्वे में चौकाने वाला खुलासा हुआ है !

          यह देखने में आता है की एयर कंडीशनर के जिस तापमान में पुरुष कर्मचारी आराम से काम करते है, तो उसी तापमान पर महिलाये ठण्ड से कपकपाने लगती है ! वह ठण्ड से जमने लगती है ! यानी जिस तापमान पर पुरुषो  ठण्ड नहीं लगती उसी तापमान पर महिलाये ठण्ड से असहज महसूस करती है !
  एक हालिया सर्वे के मुताबिक इसकी बड़ी वजह यह है की एसी  एयर कंडीशनर भी पुरुषो के हिसाब से सेट किये जाते है ! एक ने सर्वे में दो बैज्ञानिको ने बताया की ऑफिस में एसी पुरुषो के शरीर के तापमान के मुताबिक सेट किये जाते है ! यह सर्वे"नेचर क्लाइमेट चेंज" जर्नल में छपा है !

      सर्वे में कहा गया है की ज्यादातर इमारतों का थर्मोस्टैट्स वर्ष 1960 में बनाये गए मॉडल पर आधारित है ! इस तरीके के मुताबिक हवा और उसकी गति , वाष्प  का दबाब क्लौडिग इंशुलेशन आदि को ध्यान में रखकर ही उसकी सेटिंग की जाती है ! इस प्रकिया में इसका तापमान पुरुषो को तो अनुकूल लगता है की लेकिन महिलाओ के लिए प्रतिकूल बन जाता है ! इस सर्वे में खा गया है की ज्यादातर  ऑफिस की इमारतों में काफी पहले से चला आ रहा है जिसमे बदलाओ की वकालत की गयी है ! इस तरीके में पुरुषो के मेटाबॉलिक रेट का इस्तेमॉल किया जाता  है ! कहा गया है की तापमान थोड़ा ज्यादा करने से ग्लोबल वार्मिंग की समस्या से निपटने में भी मदद मिल  सकती है !
       बायॉफिजिस्ट बोरिस किग्मा के मुताबिक अधिकांश इमारतों में ऊर्जा की काफी ज्यादा   खपत होती है ! क्योकि इसका स्तर पुरुषो के शरीर से निकलने वाले तापमान के हिसाब से रखा जाता है !अगर ऑफिस में काम करने वाले लोगो के लिए जरुरी तापमान की सही जानकारी हो तो उस हिसाब से ईमारत को डिजाइन किया जा सकता है !
    इससे कम ऊर्जा की खपत होगी और कार्बन डाइऑक्साइड का उत्सर्जन भी कम होगा !

दोस्तों आप को ये लेख कैसा लगा हमें कमेंट कर के जरूर बताये ! इसी तरह के लेख के लिए हमे सब्सक्राइब जरूर कर ले !

No comments:

Post a Comment

1. हम आपसे टिप्पणी में सभ्य शब्दों के प्रयोग की अपेक्षा करते हैं।
2. हम आपसे लेख के बारे में वास्तविक राय की अपेक्षा करते हैं।
3. यदि आप विषय के अतिरिक्त कोई अन्य जानकारी चाहते हैं तो अपने प्रश्न ईमेल द्वारा पूछे - rohitksports@gmail.com