21 Dec 2017

जापान में अपनी टेक्नोलॉजी को विकसित कैसे किया ? जाने

Google Images 
क्रिएटिविटी के मामले में जापानियों का कोई मुकाबला नहीं है , जापान के पास ऐसी - ऐसी टेक्नोलॉजी की उपलब्धिया है जो किसी  और के पास नहीं है , इसलिए आज हम सब को बताने वाले है की जापान ने अपने टेक्नोलॉजी का विकास कैसे किया !

    जब भी  जापान का नाम आता है तो सभी के दिमाग में जापान की छवि टेक्नोलॉजी के मामले में सबसे आगे रहने वाले देश के रूप में होती है ! जापान सबसे विकसित देशो में से एक माना जाता है ! और बहुत कम देश ऐसे है जो जापान को टेक्नोलॉजी के मामले में टक्कर दे सकते है ! प्राकृतिक आपदाओं जैसे - भूकंप ,सुनामी आते है तो टेक्नोलॉजी की कोई ताकत ढेर हो जाती है ! लेकिन फिर भी जापान एक ऐसा देश है , जहां औसतन करीब प्रतिवर्ष 1500 भूकंप आते है ! लेकिन फिर भी यहाँ के घर इस तरह के टेक्नोलॉजी से बनाये गए है ! जिससे उन पर भूकंप का कोई प्रभाव नहीं पड़ता है 1854 में जापान ने पश्चिमी देशो के साथ व्यापार सम्बन्ध स्थापित किया था ! अपने बढ़ते औद्योगिक संचालन के लिए जापान को प्राकृतिक संसाधनों की आवश्यकता पड़ी जिसके लिए उसने 1894 - 95  चीन तथा 1904 -05 में रूस पर चढाई किया ! जापान ने रूस जापान युद्ध में रूस को हरा दिया ! ये पहली बार हुआ , जब किसी एशियाई राष्ट्र ने किसी यूरोपीय शक्ति पर विजय हासिल की थी ! जापान ने द्वितीय विश्व युद्ध में धुरी राष्ट्रों का साथ दिया! पर जापान 1945 अमेरिका द्वारा हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु बम गिराने के साथ ही जापान ने आत्मसमर्पण कर दिया ! इसके बाद से जापान ने अपने आप को एक आर्थिक शक्ति के रूप में सुदृढ़ किया  और अभी तकनिकी क्षेत्रो में सबसे ज्यादा विकसित करने में उसका नाम अग्रणी राष्ट्रों में गिना जाता है ! जापान दुनिया का केवल एकलौता देश है जिस पर परमाणु बम का हमला हुआ है ! जैसा की आप जानते ही है अमेरिका ने 9 अगस्त 1945 में हिरोशिमा और नागासाकी पर बम फेके थे ! फिर भी जापान ने पिछले 72 वर्षो में  टेक्नोलॉजी का इतना विकास किया , जिसकी हम कल्पना भी नहीं कर सकते है ! जापान टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में दुनिया में सबसे आगे है ! जापान की टेक्नोलॉजी का विकास करने  की गति और ऊर्जा ऐसी है की अगर इलेक्ट्रॉनिक्स और ऑटोमोटिव में कुछ नए जन्मे है तो ये निश्चित रूप से केवल जापान से  पैदा हो रहा है ! इलेक्ट्रॉनिक्स विज्ञानं और टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में विश्व बाजार में जापान का सबसे बड़ा हिस्सा है ! ये इन क्षेत्रो में अनुसंधान के  लिए सबसे बजट खर्च   करता है ! करीब 130 बिलियन अमेरिकी डॉलर से अधिक ,जापान में शोधकर्ता 67773 के करीब है ! एशिया में जापान एकमात्र ऐसा देश है जिसे सबसे अधिक नोबल पुरुस्कार प्राप्त हुए है ! ये सबसे बड़ा संकेत है  की जापान की टेक्नोलॉजी का विकास में एकमात्र देश है जो सबसे आगे है !जिसमे


जैसी बड़ी कम्पनिया है !

     जापान ने आधे से ज्यादा टेक्नोलॉजी रोबोट का है ! दुनिया के सबसे बड़े मोटर निर्माताओं में से 6 जापान से है ! रेल परिवहन भी जापान में दुनिया की सबसे मोस्ट एडवांस ट्रेने है ,  जो की आज की तारीख में सबसे तेज ट्रेन मैग्लेव ट्रेन 581 किलोमीटर पर घण्टे की गति से चलती है ! यह असामान्य बात है ! जापान भी अंतरिक्ष पर नियंत्रण करता है ! सारे टेक्नोलॉजी के विकास का श्रेय जाता है जापान की संवैधानिक व्यवस्था , शिक्षण   व्यवस्था , लोगो की क्रिएटिविटी को जो जापान को टेक्नोलॉजी को विकसित करने की बुलंदियों को ऊचाई पर गया !


    यदि हम चाहे तो भारत में युवको को क्रिएटिविटी बनाकर टेक्नोलॉजी के विकास को सक्षम कर सकते है !  ज्यादा आयातित ईंधन पर निर्भर है !जो की जापान की परमाणु ऊर्जा जापान की प्राथमिकता है ! जापान दुनिया की सबसे बड़ी तीसरी परमाणु ऊर्जा है ! तकनिकी तौर  पर जापान दुनिया का टेक्नोलॉजी प्रमुख  देश है ! 

इन्हे भी पढ़े :-


हमे उम्मीद है आपको ये लेख पसंद आएगा ! तो इसे अपने दोस्तों और फेसबुक , व्हाट्सप्प पर शेयर करना ना भूले ! और अगर हमारा ब्लॉग अच्छा लगता है तो उसे बुकमार्क कर ले ! धन्यवाद 

No comments:

Post a Comment

1. हम आपसे टिप्पणी में सभ्य शब्दों के प्रयोग की अपेक्षा करते हैं।
2. हम आपसे लेख के बारे में वास्तविक राय की अपेक्षा करते हैं।
3. यदि आप विषय के अतिरिक्त कोई अन्य जानकारी चाहते हैं तो अपने प्रश्न ईमेल द्वारा पूछे - rohitksports@gmail.com