4 Dec 2017

ये उपाय बचाएंगे प्रदूषित हवा से !! ऐसे करे अपने घर के हवा को साफ़ !!


पिछले दो - चार दिनों के आकड़ो को देखे तो भारत में वायु प्रदूषण खरनाक स्तर पर पहुंच गया है ! खासकर बड़े शहरों की हवा  तो इतनी प्रदुसित हो गई है की साँस लेना दूभर होता जा रहा ! है दरअसल हवा में प्रदूषण की वजह से सांस  से जुडी बीमारिया बढ़ रही है ! इसके आलावा वायु प्रदूषण की वजह से सिरदर्द , उलटी ,घुटन , और आँखों में जलन जैसी समस्याए भी पैदा होती है !
   अगर आप बाहर कम निकलते है तो इसका यह कतई मतलब नहीं है की आप प्रदूषित हवा से बचे हुए है ! आपको जान कर हैरानी होगी की घर के अंदर की हवा  बाहर की हवा के मुकाबले दुगने से भी ज्यादा (कई बार पांच गुना तक ) प्रदूषित होती है ! ऐसे में घर की हवा सांस लेने के लिए ज्यादा खराब है ! लेकिन कुछ ऐसे प्राकृतिक उपाय है , जिन्हे  अपनाकर आप घर की हवा को साफ़ कर सकते है !

हिमालय सॉल्ट लैम्प है कारगर 
Google Images

 हिमालय गुलाबी नमक एक शानदार प्राकृतिक आयोनिक एयर प्यूरीफायर है , जो वातावरण  टॉक्सिन यानी विषैले तत्वों को दूर करता है ! और उनको निष्प्रभावी बनाता  है ! साल्ट लैंप में नमक में नमक के ठोस ब्लॉक के बीच खाली स्थान बना कर उसमे बल्ब लगा दिया जाता है ! जब बल्ब को ऑन किया जाता है तो साल्ट से प्रकाश और ऊष्मा दोनों निकलते है और ये वातावरण  में मौजूद जलवाष्प कण (वाटर वेपर ) को हटाते है ! दरअसल इन जलवाष्प कणो में धूल व् धुएं के कणो के साथ-साथ  जीवाणु और विषाणु भी होते है , जो नुकसानदायक है !

एक्टिवेट किया हुआ चारकोल रखे घर में  
Google Images

इसे सक्रीय कार्बन के रूप में भी जाना जाता है ! एक्टिवेटेड चारकोल बोन चार , नारियल के छिलको, कोयले और जैतून की गुठलिया या बुरादे से बना एक महीन काला पाउडर होता है ! चारकोल को बहुत उच्च तापमान पर प्रोसेस कर उसे एक्टिवेट किया जाता है ! इससे यह सामान्य चारकोल के मुकाबले ज्यादा झिरझिरा हो जाता है ! बांस से बना चारकोल भी बहुत शानदार एयर प्यूरीफायर है ! एक्टिवेट किए हुए चारकोल  में नेगेटिव इलेक्ट्रिकल चार्ज होता है , जो टॉक्सिन और आकर्षित करता है और उन्हें अंदर फ़सा  लेता है ! चुकी हमारा शरीर एक्टिवेटेड चारकोल को अवशोषित नहीं करता , इसलिए उसके अंदर फ़से विषैले और रासायनिक तत्व हमारते शरीर के अंदर नहीं जा पाते !

घर में मधुमोम से  कैंडल जलाए !
Google Images

बीजवैक्स  यानी मधुमोम एक प्राकृतिक मोम है , जो मधुमख्खियों से प्राप्त होता है ! यह प्राकृतिक रूप से हवा को शुध्द करता है ! इसकी खासियत है की यह हवा को आयोजेनिक करता है और विषैले व प्रदूषण फैलाने वाले तत्वों  को निष्प्रभावी बनाता है ! यह अस्थमा के मरीजों के लिए बहुत अच्छा है ! यह हवा से धूल जैसे एलर्जी  पैदा करने वाले तत्वों को भी दूर करता है !
  बीजवैक्स कैंडल, साल्ट लैंप और एक्टिवेटेड चारकोल के बैग आजकल बाजार में आसानी से उपलब्ध है और इनकी इनकी कीमते जेब पर ज्यादा भार डालने वाली भी नहीं है ! इन्हे आप ऑनलाइन भी खरीद सकते है !
  इसके आलावा घर में वेंटिलेशन बढ़ा कर हवा को साफ कर सकते है ! दरअसल सही वेंटिलेशन से हवा में नमी का स्तर कम होता है ! जिससे वह साँस लेने के लिए ज्यादा बेहतर होती है ! गैस पर खाना बनाते समय एग्झास्ट फैन जरूर चलाए ! वैज्ञानिक का कहना है की गैस स्टोव पर एक वक्त का भोजन बनाने में नाइट्रोजन डाई ऑक्साइड की उतनी मात्रा उत्पन्न होती है ,  साँस लेने के लिए अच्छी नहीं होती है ! एग्झास्ट फैन उस नाइट्रोजन को बाहर फेकता है !

दोस्तों आप इस लेख को जितना ज्यादा से ज्यादा शेयर करे ताकि लोग इसके बारे में जागरूक हो  सके और वायु प्रदूषण में कमी लाया जा सके !

No comments:

Post a Comment

1. हम आपसे टिप्पणी में सभ्य शब्दों के प्रयोग की अपेक्षा करते हैं।
2. हम आपसे लेख के बारे में वास्तविक राय की अपेक्षा करते हैं।
3. यदि आप विषय के अतिरिक्त कोई अन्य जानकारी चाहते हैं तो अपने प्रश्न ईमेल द्वारा पूछे - rohitksports@gmail.com

Download This App Now